/
/
/
     मेरे सीने में जो जख्म है वो तो फूल के गुच्छे है

               हाँ हम पागल है 

                  पागल ही रहने दो केवल पागल ही अच्छे है   ROHAAN POONIA
/
/
/

Thursday, 8 June 2017

Rohaan poonia

Poonia ji

No comments:

Post a Comment